14 मई को नारद सम्मान समारोह, पत्रकारो को प्रोत्साहित, प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

Social Share


प्रान्त स्तरीय देवर्षि नारद पत्रकार सम्मान समारोह 14 मई को अजमेर में
(विश्व संवाद केंद्र चित्तौड़ प्रान्त अजमेर चैप्टर द्वारा होगा आयोजन)
ब्रह्माण्ड के आद्य संवाददाता देवर्षि नारद जयंती के अवसर पर प्रतिवर्ष देश भर में पत्रकारिता जगत में उल्लेखनीय कार्य करने वाले पत्रकार बन्धु-भगिनियों का सम्मान देवर्षि नारद सम्मान समारोह समिति द्वारा किया जाता है इसी क्रम में विश्व संवाद केंद्र चित्तौड़ प्रान्त अजमेर चैप्टर द्वारा आगामी 14 मई 2023 को प्रथम प्रान्त स्तरीय पत्रकार सम्मान समारोह का आयोजन हंस पैराडाइस समारोह स्थल,फ़ायसागर रोड, अजमेर में किया जायेगा यह बात आज अजमेर में हुई प्रेस वार्ता में जानकारी देते हुए विश्व संवाद केंद्र चित्तौड़ प्रान्त अजमेर चैप्टर के सचिव निरंजन शर्मा कही | इस सम्बन्ध में उन्होंने बताया कि चित्तौड़ प्रान्त के उन सभी पत्रकारों से प्रविष्टियां आमंत्रित की जाती हैं जो चित्तौड़ प्रान्त में पत्रकारिता करते हुए राष्ट्रीयता,सामाजिक जीवन,समरसता या पर्यावरण जैसे विषयों को प्रभावी रूप से उठाते रहे हैं| आवेदन की अंतिम तिथि 10 मई है | पत्रकारिता क्षेत्र के चार आयामों उत्कृष्ट पत्रकारिता,डेस्क वर्क, सोशल मिडिया एवं फोटो जर्नलिष्ट के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये गए है,कोई भी पत्रकार बंधू/भगिनी अपना अथवा अपने किसी साथी पत्रकार का आवेदन ऑनलाइन प्रारूप में चयन समिति तक पहुचा सकते हैं |
नारद सम्मान कार्यक्रम में एक नारद विभूषण 21000/ रू एवम तीन नारद भूषण 11000/ रु नगद राशि के साथ प्रमाण पत्र एवम स्मृति चिन्ह भी दिए जायेंगे ।
कार्यक्रम में अजमेर शहर के सभी पत्रकार बंधू भगिनी को आमंत्रित किया गया है |
डॉ. रतन शारदा जी होंगे मुख्य वक्ता (पूर्ण परिचय)
श्री रतन शारदा को आरएसएस पर थीसिस के लिए पीएचडी की उपाधि से सम्मानित किया गया है। वह एक लेखक, स्तंभकार और प्रसिद्ध टीवी पैनलिस्ट हैं। उन्होंने 9 किताबें लिखी हैं जिनमें से 7 आरएसएस पर, एक गुरु नानक देव पर और एक आपदा प्रबंधन पर है; आरएसएस के बारे में दो पुस्तकों का अनुवाद किया – द इनकंपरेबल गुरुजी गोलवलकर और एम एस गोलवलकर: हिज विजन एंड मिशन, हिंदी से अंग्रेजी में; अग्रणी आरएसएस विचारक श्री रंगा हरि द्वारा लिखित। उन्होंने 12 पुस्तकों का संपादन/डिजाइन किया है। आरएसएस पर उनकी सबसे लोकप्रिय पुस्तकें RSS 360 डिग्री, संघ और स्वराज, RSS – एक संगठन से एक आंदोलन के लिए विकास, प्रो राजेंद्र सिंह की जीवन यात्रा और संघर्ष समाधान: RSS मार्ग हैं। रतन शारदा ने भरत और भारत के बाहर बड़े पैमाने पर यात्रा की है। 1975-77 के दौरान आपातकाल के दौरान वे जेल गए थे। वे 2 दशकों के विभिन्न औद्योगिक अनुभव के अलावा दो दशकों के लिए ईआरपी सलाहकार थे। वह आठ साल तक विश्व केंद्र (सेंटर फॉर इंटरनेशनल स्टडीज), मुंबई के संस्थापक सचिव रहे। वह कई शैक्षणिक संस्थानों और स्वैच्छिक संगठनों के सलाहकार हैं।
निरंजन शर्मा
सचिव
विश्व संवाद केंद्र चित्तौड़ प्रान्त (अजमेर चैप्टर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *